Pilot Kaise Bane After 12th: 12वीं के बाद पायलट कैसे बनें? – How to become Pilot after 12th?

Pilot Kaise Bane After 12th: कई लोगों को हवाई जहाज में उड़ना अच्छा लगता है और कई लोग खुद हवाई जहाज उड़ाना चाहते हैं। आप पायलट क्यों बनना चाहते हैं, इसके कई कारण हो सकते हैं। हो सकता है आपके परिवार में कोई पायलट हो और आप भी उन्हीं के जैसे बनना चाहते हों। या फिर आपको आसमान में उड़कर दुनिया देखने का शौक हो। आज हम आपको बताएंगे कि पायलट कैसे बनें, पायलट बनने में कितना खर्चा आता है, और पायलट बनने के लिए किन योग्यताओं की जरूरत होती है। इसलिए इस लेख को अंत तक पढ़ें। याद रखें, पायलट बनना आसान नहीं है। इसके लिए आपको कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी।

Table of Contents

पायलट कैसे बनें?

अगर आप पायलट बनना चाहते हैं, तो जानना जरूरी है कि इसके लिए क्या करना पड़ेगा। सबसे पहले, 10वीं कक्षा में अच्छे नंबर से पास होना जरूरी है। पायलट बनने की तैयारी 11वीं कक्षा से ही शुरू कर देनी चाहिए। इसके लिए फिजिक्स, केमिस्ट्री, और मैथ्स – ये तीनों विषय जरूरी हैं। 11वीं में साइंस लेकर, 12वीं पास करनी होगी और अंग्रेजी बोलना अच्छे से आना चाहिए।

  • 10वीं पास करें।
  • 11वीं में साइंस चुनें।
  • साइंस में PCM लेकर 12वीं पास करें।
  • 12वीं कम से कम 50% नंबरों से पास करें।
  • अपनी अंग्रेजी सुधारें।

पायलट बनने के लिए जरूरी स्किल्स:

  • तकनीकी स्किल्स
  • अच्छी सोच और फैसले लेने की क्षमता
  • आसपास की स्थिति की समझ
  • बढ़िया संचार क्षमता
  • ध्यान केंद्रित करने और अनुशासित होने की क्षमता
  • लगातार बेहतर बनने की कोशिश
  • तेजी से सीखने की योग्यता
  • मानसिक और शारीरिक रूप से फिट
  • टीम में काम करने की समझ
  • नेतृत्व की गुणवत्ता

पायलट बनने के टिप्स:

  • ग्रेजुएशन पूरा करें
  • उड़ान का अनुभव हासिल करें
  • पायलट लाइसेंस के लिए आवेदन करें
  • और परीक्षणों को पूरा करें
  • एक एयरलाइन पायलट के रूप में आगे बढ़ें
  • 12वीं की परीक्षा के साथ एंट्रेंस परीक्षा की तैयारी करें।
  • स्टूडेंट पायलट लाइसेंस, प्राइवेट लाइसेंस और कमर्शियल लाइसेंस के लिए आवेदन करें।

पायलट बनने के लिए पढ़ाई

12वीं क्लास पास करने के बाद अगर आप पायलट बनना चाहते हैं, तो आपको एक परीक्षा देनी होगी। जिन बच्चों को 12वीं के बाद पायलट बनने की इच्छा है, उनके लिए सही दिशा-निर्देश जरूरी है। 12वीं पास करते ही आप पायलट परीक्षा के लिए फॉर्म भर सकते हैं, पर इसके लिए फौजी दवाई केंद्र से एक मेडिकल सर्टिफिकेट लेना भी जरूरी है। पायलट बनने के लिए आपको इस परीक्षा को पास करना होगा जिसके कुछ खास चरण होते हैं।

  1. लिखित परीक्षा (written test) 
  2. मेडिकल परीक्षा (Medical examination) 
  3. साक्षात्कार (interview)

12वीं के बाद पायलट कैसे बनें?

किसी भी हवाई जहाज से जुड़े कोर्स में दाखिला लेने के लिए, आपको उस स्कूल या अकादमी के नियमों को मानना पड़ेगा। अगर आप भारत में 12वीं के बाद पायलट बनना चाहते हैं, तो इसके लिए कुछ खास जरूरतें पूरी करनी होंगी:

  • ट्रेनिंग शुरू करने के लिए आपकी उम्र कम से कम 17 साल होनी चाहिए।
  • आपको 12वीं कक्षा में 50% नंबर मिले होने चाहिए, लेकिन कुछ स्कूलों में यह अलग हो सकता है।
  • आपने बारहवीं में अंग्रेजी, गणित, भौतिकी और रसायन विज्ञान जैसे विषय पढ़े होने चाहिए।
  • अगर आप विज्ञान छात्र नहीं हैं, तो आप नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग या अपने राज्य के बोर्ड से ज़रूरी विषयों में प्राइवेट कैंडिडेट के रूप में पढ़ सकते हैं।
  • आपके पास आधिकारिक डॉक्टर द्वारा दिया गया फिटनेस सर्टिफिकेट होना चाहिए।

पायलट बनने में कितने साल लगते हैं?

अगर आप पायलट बनना चाहते हैं, तो पहले आपको एक फ्लाइंग क्लब में दाखिला लेना पड़ेगा, जिसे भारत सरकार के नागरिक उड्डयन निदेशालय (DGCA) ने मान्यता दी हो। इसके साथ ही, आपको स्टूडेंट पायलट लाइसेंस के लिए आवेदन करना होगा और एक प्रवेश परीक्षा पास करनी होगी, फिर ट्रेनिंग पूरी करनी होगी। भारत में, पायलट बनने में 2 से 3 साल लग सकते हैं क्योंकि यहाँ संसाधनों की कमी है। परंतु, अगर आप विदेश में ट्रेनिंग लेते हैं, तो 1 साल में पायलट बन सकते हैं।

पायलट बनने के लिए कौन सी योग्यताएँ चाहिए

अगर आप पायलट बनना चाहते हैं, तो कुछ ज़रूरी शर्तें पूरी करनी होती हैं। इन शर्तों को पूरा करके ही आप पायलट बन सकते हैं। पायलट बनने की योग्यता इस प्रकार है-

  • उम्मीदवार को भारत का नागरिक हो
  • दसवीं कक्षा पास करनी जरुरी है
  • आपको 12वीं कक्षा में फिजिक्स, केमिस्ट्री और गणित विषय लेकर कम से कम 50% अंकों के साथ पास होना आवश्यक है
  • इंग्लिश बोलने में आपका अच्छा होना जरुरी है
  • आपकी ऊंचाई कम से कम 5 फीट होनी चाहिए
  • आपकी उम्र 16 से 32 वर्ष के बीच होनी चाहिए
  • आपको कोई बड़ी बीमारी नहीं होनी चाहिए
  • आपकी आँखों की रोशनी ठीक होनी चाहिए
  • विदेश में पढ़ने के लिए आपके पास IELTS या TOEFL का स्कोर होना जरूरी है

आवेदन की प्रक्रिया

आवेदन करने की प्रक्रिया यूं होती है:

  • जैसे ही बारहवीं का रिजल्ट आता है, कॉलेज और यूनिवर्सिटी में आवेदन शुरू हो जाते हैं। तब छात्रों को चाहिए कि वे अपने मनपसंद कॉलेज या यूनिवर्सिटी में आवेदन पत्र भरकर जमा करा दें।
  • उसके बाद, छात्र को प्रवेश परीक्षा देने के लिए बोला जाता है।
  • इस तरह से, छात्रों की परफॉरमेंस के आधार पर उन्हें बीए इन हिस्ट्री (इतिहास में स्नातक) का दाखिला मिलता है।
  • फिर अपनी फीस जमा कराएँ।
  • अपना आवेदन पत्र जमा कराएँ।
  • इसके अलावा समझ लें कि कॉलेज और यूनिवर्सिटी में दाखिले के लिए अलग-अलग विभाग होते हैं और हर एक की अपनी निर्दिष्ट आवेदन प्रक्रिया है जिन्हें आपको ध्यानपूर्वक पढ़ना और समझना चाहिए इससे आवेदन करते समय होने वाली गलतियों से बचा जा सकता है

विदेशी यूनिवर्सिटी में आवेदन कैसे करें?

यूनिवर्सिटी में अप्लाई करने का तरीका यहां दिया गया है-

  • पहले अच्छे से रिसर्च करें और जो पसंद हो उस कोर्स को ढूँढें।
  • फिर, कॉलेज की वेबसाइट पर अपना अकाउंट बनाएं और अपना मनपसंद कोर्स चुनें।
  • इसके बाद अपनी पढ़ाई से जुड़ी जानकारी भरें।
  • फिर आवेदन शुल्क दें।
  • आखिरी में, अपना फॉर्म जमा कर दें।

जरूरी कागजात

विदेशी विश्वविद्यालय में प्रवेश पाने के लिए आपको निम्नलिखित दस्तावेज़ों की जरूरत होती है-

  • बारहवीं क्लास की मार्कशीट
  • स्नातक की मार्कशीट
  • स्नातकोत्तर की मार्कशीट
  • सभी आधिकारिक पढ़ाई के दस्तावेज़ और ग्रेड कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • पासपोर्ट की फोटोकॉपी
  • वीजा
  • हाल ही में अपडेट किया गया बायोडाटा
  • सिफारिशी पत्र
  • उद्देश्य कथन

करियर विकल्प

पायलट बनने के लिए कई तरह के विकल्प हैं, जिनके बारे में नीचे बताया गया है-

  • एयरलाइन पायलट: यह पायलट दुनिया भर में लोगों और सामान को समय पर पहुँचाने के लिए बड़े विमान उड़ाता है। यह पायलट बनने का सबसे पसंदीदा तरीका है। वहीं, वाणिज्यिक पायलट छोटी दूरियों पर लोगों और सामान को ले जाते हैं और इसमें आपको रोज़ घर वापस भी आना पड़ सकता है।
  • कॉर्पोरेट पायलट: यह पायलट निजी कंपनियों या लोगों के लिए छोटे विमान उड़ाता है ताकि वो विशेष बैठकों में जा सकें।
  • लड़ाकू पायलट: लड़ाकू पायलट, जिसे सैन्य पायलट भी कहा जाता है, सेना या वायु सेना के लिए काम करते हैं। वे सैन्य विमान उड़ाते हैं और हवाई युद्ध में भी भाग लेते हैं।
  • चार्टर पायलट: यह पायलट खास मंजिलों के लिए लोगों को उड़ाता है, जिसे “एयर टैक्सी” भी कहते हैं। आप खुद की चार्टर कंपनी खोल सकते हैं या अन्य कंपनियों के लिए काम कर सकते हैं।

एयर फोर्स पायलट कैसे बने?

बहुत से युवा भारतीय वायुसेना में पायलट बनने का ख्वाब देखते हैं। एयरफोर्स पायलट बनने के लिए उन्हें कठिन प्रशिक्षण से गुजरना पड़ता है। उन्हें लड़ाकू जेट उड़ाने और हमला करने की ट्रेनिंग भी मिलती है। वायुसेना पायलट बनने के लिए जरूरी योग्यताएं वाणिज्यिक पायलट के बराबर होती हैं।

वायु सेना पायलट के प्रकार

भारतीय वायु सेना में पायलट बनने के चार रास्ते हैं, जैसे कि-

  • NDA (National Defence Academy)
  • CDSE (Combined Defence Service Exam)
  • SSCE (Short Service Commission Entry)
  • NCC (National Cadet Corps)

ग्रेजुएशन के बाद अगर आप पायलट बनना चाहते हैं, तो आपको एक खास परीक्षा पास करनी पड़ती है जो कि UPSC के द्वारा ली जाती है। यह परीक्षा मुश्किल होती है। इसके बाद आपको तीन साल की ट्रेनिंग करनी होती है। ट्रेनिंग खत्म होने के बाद, आपको भारतीय वायुसेना में स्थाई कमिशन अधिकारी के रूप में पायलट की नौकरी मिल जाती है।

पायलट बनने पर कितना पैसा लगता है?

दोस्तों पायलट बनना काफी महंगा है क्योंकि इसका सारा खर्च आपको खुद उठाना पड़ता है पायलट बनने में बहुत पैसे लगते हैं और इसकी पढ़ाई भी काफी महंगी होती है इसका खर्च कम से कम 20 से 25 लाख रुपए होता है यह निर्भर करता है कि आप किस संस्थान में पढ़ाई कर रहे हैं अगर आप कम पैसे में पायलट बनना चाहते हैं तो आपको इंडियन एयरफोर्स जॉइन करना पड़ेगा

हेलीकॉप्टर पायलट कैसे बनें?

हेलीकॉप्टर पायलट बनने के लिए आपको आईजीआरयूए की एंट्रेंस परीक्षा पास करनी होगी जिसे इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी भी कहते हैं इस परीक्षा को भारत सरकार के सिविल एविएशन विभाग द्वारा आयोजित किया जाता है परीक्षा पास करने वाले लोगों को पहले मेडिकल टेस्ट देना पड़ता है फिर उन्हें मेडिकल और इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है इस परीक्षा को पास करके आप हेलीकॉप्टर पायलट बनने के कोर्स में दाखिला ले सकते हैं

हेलिकॉप्टर पायलट बनने के लिए योग्यता

  • उम्मीदवार ने 12वीं कक्षा भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान और गणित जैसे विषयों के साथ पास की हो।
  • उम्मीदवार को 12वीं कक्षा में कम से कम 50% अंक मिले हों।

आयु सीमा

  • अगर कोई व्यक्ति स्टूडेंट पायलट लाइसेंस लेना चाहता है, तो उसे कम से कम 16 साल का होना पड़ेगा।
  • वैसे ही, प्राइवेट पायलट लाइसेंस के लिए, उम्र 17 साल होनी चाहिए।
  • और, कमर्शियल पायलट लाइसेंस के लिए, आवेदक की उम्र 18 साल होनी जरूरी है।

भारत में पायलट प्रशिक्षण केंद्र

  • एशियाटिक इंटरनेशनल एविएशन एकेडमी, इंदौर
  • ब्लू डायमंड एविएशन, पुणे
  • एक्यूमेन स्कूल ऑफ पायलट ट्रेनिंग, दिल्ली
  • इंटरनेशनल स्कूल ऑफ एविएशन, नई दिल्ली
  • इंडियन एविएशन एकेडमी, मुंबई

सबसे अच्छा भारतीय पायलट कॉलेज

भारत में ये कुछ प्रमुख कॉलेज, विश्वविद्यालय और अकादमी हैं जो आपको प्रोफेशनल पायलट बनने के लिए जरूरी बुनियादी और तकनीकी कौशल सिखाते हैं:

  • इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी
  • बॉम्बे फ्लाइंग क्लब
  • राजीव गांधी एकेडमी ऑफ एविएशन टेक्नोलॉजी 
  • मध्य प्रदेश फ्लाइंग क्लब
  • राष्ट्रीय उड़ान प्रशिक्षण संस्थान
  • अहमदाबाद एविएशन एंड एरोनॉटिक्स लिमिटेड
  • सीएई ऑक्सफोर्ड एविएशन अकादमी
  • इंडिगो कैडेट प्रशिक्षण कार्यक्रम 
  • सरकारी विमानन प्रशिक्षण संस्थान
  • पुडुचेरी ठाकुर कॉलेज ऑफ एविएशन
  • गवर्नमेंट फ्लाइंग क्लब 
  • ओरिएंट फ्लाइंग स्कूल
  • उड्डयन और विमानन सुरक्षा संस्थान 

टॉप रिक्रूटर्स

जब आप सही पढ़ाई कर लेते हैं और जरूरी प्रमाण पत्र या लाइसेंस हासिल कर लेते हैं, तब आपका दिलचस्प पायलट बनने का सफर शुरू होता है। चलिए इस क्षेत्र के कुछ मुख्य काम देने वालों पर नजर डालते हैं-

  • Air India
  • IndiGo
  • Air Asia
  • Spice Jet
  • Air India Charters Ltd
  • Alliance Air
  • India Jet Airways
  • Air Costa

सैलरी

कई लोग कमर्शियल पायलट बनना चाहते हैं क्योंकि भारत में इस नौकरी की सैलरी बहुत ज्यादा होती है और इसे एक शानदार नौकरी माना जाता है। अगर आप भी कमर्शियल पायलट बनना चाहते हैं, तो आपको SPL का कोर्स करके कुछ परीक्षाएँ पास करनी होंगी। इसके बाद आपको अच्छी सैलरी मिल सकती है, जो शुरू में लगभग 80 हजार से 2 लाख रुपये प्रति महीना होती है और बाद में 3 से 5 लाख रुपये प्रति महीना तक जा सकती है। भारत में कमर्शियल पायलट की महीने की कमाई 1.5 से 2 लाख रुपये तक होती है। वहीं, अगर आप भारतीय वायु सेना जाते हैं, तो आपकी सालाना कमाई लगभग 5 से 8 लाख रुपये हो सकती है।

दुनिया के शीर्ष 10 पायलट

नीचे दुनिया के सबसे अच्छे 10 पायलटों की सूची दी गई है-

  • विल्बर और ऑरविल राइट
  • जनरल चार्ल्स ए. लिंडबर्ग
  • अमेलिया ईअरहार्ट
  • बैरन मैनफ्रेड वॉन रिचथोवेन
  • जनरल जेम्स एच. डूलिट्ल
  • नोएल विएन
  • चेसली सुलेनबर्गर
  • जनरल चार्ल्स ई. येगेर
  • एरिच हार्टमैन
  • रॉबर्ट ए हूवर

पायलट की सैलरी कितनी होती है? | पायलट सैलरी

पायलट बनना जितना महंगा है, उतनी ही अच्छी कमाई भी इसमें होती है। हमारे देश में एक पायलट की कमाई लगभग 50,000 रुपये से शुरू होकर 2,00,000 रुपये प्रति महीने या उससे भी ज्यादा हो सकती है। जैसे-जैसे पायलट का अनुभव बढ़ता है, उसकी सैलरी भी बढ़ती जाती है। यह एक ऐसा खास करियर विकल्प है जहाँ आपको अच्छी कमाई के साथ-साथ दुनिया घूमने का मौका भी मिलता है।

पायलट बनने में कितने पैसे लगते हैं?

तो अब जब आपने ये सब जान लिया है, तो आप सोच रहे होंगे कि पायलट बनने में कितना पैसा लगता है? पायलट बनने में बहुत पैसा खर्च होता है, लगभग 20 लाख से 25 लाख रुपये तक। इतना खर्चा इसलिए आता है क्योंकि जितनी बार आप प्लेन उड़ाएंगे, उतनी बार आपको पैसे देने होंगे और पायलट बनने के लिए और भी खर्चे होते हैं।

पायलट कितने तरह के होते है?

पायलट कई तरह के होते हैं, जिनमें से कुछ प्रमुख प्रकार हैं:

1. एयरलाइन पायलट: ये वो पायलट होते हैं जो यात्री विमानों को उड़ाते हैं। एयरलाइन पायलटों को व्यावसायिक पायलट लाइसेंस (CPL) और एयरलाइन परिवहन पायलट लाइसेंस (ATPL) की आवश्यकता होती है।

2. वाणिज्यिक पायलट: ये वो पायलट होते हैं जो मालवाहक विमान, हेलीकॉप्टर और छोटे विमानों को उड़ाते हैं। वाणिज्यिक पायलटों को CPL की आवश्यकता होती है।

3. सैन्य पायलट: ये वो पायलट होते हैं जो सशस्त्र बलों के लिए काम करते हैं और लड़ाकू विमान, बमवर्षक और अन्य सैन्य विमानों को उड़ाते हैं। सैन्य पायलटों को विशेष प्रशिक्षण और योग्यता की आवश्यकता होती है।

4. निजी पायलट: ये वो पायलट होते हैं जो अपने निजी विमानों को उड़ाते हैं। निजी पायलटों को PPL की आवश्यकता होती है।

5. प्रशिक्षक पायलट: ये वो पायलट होते हैं जो नए पायलटों को उड़ान प्रशिक्षण देते हैं। प्रशिक्षक पायलटों को विशेष प्रशिक्षण और अनुभव की आवश्यकता होती है।

6. हेलीकॉप्टर पायलट: ये वो पायलट होते हैं जो हेलीकॉप्टरों को उड़ाते हैं। हेलीकॉप्टर पायलटों को CPL और हेलीकॉप्टर रेटिंग की आवश्यकता होती है।

7. ड्रोन पायलट: ये वो पायलट होते हैं जो ड्रोन उड़ाते हैं। ड्रोन पायलटों को ड्रोन उड़ान का विशेष प्रशिक्षण और योग्यता की आवश्यकता होती है।

8. जलयान पायलट: ये वो पायलट होते हैं जो जलयान उड़ाते हैं। जलयान पायलटों को जलयान उड़ान का विशेष प्रशिक्षण और योग्यता की आवश्यकता होती है।

9. कृषि पायलट: ये वो पायलट होते हैं जो कृषि कार्यों में उपयोग किए जाने वाले विमानों को उड़ाते हैं। कृषि पायलटों को CPL और कृषि उड़ान का विशेष प्रशिक्षण और योग्यता की आवश्यकता होती है।

10. खोज और बचाव पायलट: ये वो पायलट होते हैं जो खोज और बचाव कार्यों में उपयोग किए जाने वाले विमानों को उड़ाते हैं। खोज और बचाव पायलटों को CPL और खोज और बचाव उड़ान का विशेष प्रशिक्षण और योग्यता की आवश्यकता होती है।

11. प्रदर्शन पायलट: ये वो पायलट होते हैं जो हवाई प्रदर्शनों में भाग लेते हैं। प्रदर्शन पायलटों को विशेष प्रशिक्षण और अनुभव की आवश्यकता होती है।

12. अंतरिक्ष यात्री: ये वो पायलट होते हैं जो अंतरिक्ष यान उड़ाते हैं। अंतरिक्ष यात्रियों को विशेष प्रशिक्षण और योग्यता की आवश्यकता होती है।

FAQs

बारवीं के बाद पायलट कैसे बनें?

12वीं के बाद पायलट बनने के लिए सबसे अच्छे कोर्स ये हैं:
कमर्शियल पायलट की तैयारी
हवाई जहाज से जुड़ी इंजीनियरिंग में बीटेक
जमीन पर काम करने वाले स्टाफ और केबिन क्रू के लिए डिप्लोमा और तैयारी
हवाई उड़ान में बीएससी

क्या हम बारहवीं के बाद पायलट बन सकते हैं?

हां, पायलट बनने के लिए विज्ञान में 12वीं पास होना जरूरी है और पायलट ट्रेनिंग कोर्स में दाखिले के लिए उम्र कम से कम 17 साल होनी चाहिए।

पायलट बनने के लिए सबसे अच्छा विषय कौन सा है?

पायलट बनने के लिए, आपको 12वीं कक्षा में भौतिकी और गणित पढ़े होने चाहिए।

पायलट कोर्स की फीस कितनी है?

पायलट ट्रेनिंग के कोर्सों की औसत फीस, कोर्स के प्रकार और समय के हिसाब से, 15 लाख से 50 लाख के बीच होती है।

Our HomePageClick Here
Follow Us on WhatsAppClick Here